लक्ष्मण,भगवान राम के बारे में /About Lakshmana, Lord Rama

लक्ष्मण,भगवान राम के  बारे में

भगवान राम और उनके भाई लक्ष्मण हिंदू धर्म के महानायक एवं देवी-देवताओं के अवतार माने जाते हैं। भगवान राम अयोध्या नगरी के राजा दशरथ और रानी कौशल्या के पुत्र थे और उनके तीन भाई थे, जिनमें बड़े से छोटे तक क्रमशः भरत, लक्ष्मण और शत्रुघ्न शामिल थे।रामायण, जिसे वाल्मीकि द्वारा लिखा गया है, उनकी कथा का मुख्य स्रोत है। रामायण में राम को मानवता का अवतार और धर्म के परागणक माना जाता है। रामायण के अनुसार, राम ने अयोध्या नगरी के राजा का अधिकार संभाला, लेकिन उन्हें वनवास जाना पड़ा जिसके दौरान उनके भाई लक्ष्मण भी साथ रहे। राम, सीता और लक्ष्मण के वनवास के दौरान उन्होंने विभिन्न राक्षसों और दुर्जय विष्णु भक्त रावण के साथ संघर्ष किया।
लक्ष्मण, भगवान राम के सबसे प्रिय भाई थे और उन्हें चिंतामणि (Chintamani) नामक शक्तिशाली पत्थर की चिंता थी, जिससे उन्हें सदैव सुख और समृद्धि मिलती रहती थी। लक्ष्मण को सीता और राम के साथ सम्मान्य जीवन का त्याग करके वनवास में जाना पड़ा।लक्ष्मण अपने प्रतिस्पर्धी भाई भरत के प्रति भी बहुत समर्पित थे और वनवास के दौरान भरत ने राम के पादुका पर अयोध्या के प्रशासन का भार संभाल लिया था, जब राम वनवास में थे।लक्ष्मण और राम की प्रेम कथाएँ, उनके साथियों के साथ वनवास के दिन, और रावण से संघर्ष की गूढ़ वारदातें हिंदू धर्म के लोगों के बीच लोकप्रिय हैं और उन्हें भारतीय संस्कृति में एक महत्वपूर्ण स्थान है।

भगवान राम और उनके भाई लक्ष्मण की कथा

 विषयक रामायण हिंदू धर्म की महाकाव्यिका है जिसे महर्षि वाल्मीकि ने रचा था। यह कथा राम के अवतार, उनके वनवास, राक्षसों से संघर्ष, सीता का हरण और रावण के वध की गूढ़ घटनाओं को संक्षेप में वर्णित करती है।कथा की शुरुआत राजा दशरथ के राज्य की घनिष्ठ वात्सल्यपूर्ण कथा से होती है, जिसमें उन्हें विशेष इच्छा होती है कि उनके पुत्र राम को उत्तर्दायी (वरसेवक) के रूप में वर दिया जाए। पुरा शहर उस प्रकार का विचार करता है, जो राम को बिना भोग खाए वर दे दे, लेकिन राजा दशरथ के प्रिय राजमाता कैकेयी का मन अलग होता है। कैकेयी के चालाक राजसूभे उसे राम को 14 वर्ष के वनवास भेजने का विचार करने पर मजबूर किया जाता है।राम के वनवास में जाने पर उनके भाई लक्ष्मण तथा पत्नी सीता भी उनके साथ जा रहे होते हैं। इस प्रकरण में, लक्ष्मण ने अपने प्रिय भाई के लिए स्वयं को समर्पित करने का संकल्प किया और उनके साथ अनछुई यात्रा में तैयारी की।
वनवास के दौरान राम, सीता, और लक्ष्मण को राक्षसी सुर्पणखा के साथ मुद्दे और खर-दूषण के साथ युद्ध करना पड़ता है। इसके बाद, रावण राक्षस अधिपति सीता को हरण करके लंका ले जाता है, जिससे राम अपनी पत्नी को वापस पाने के लिए लंका यात्रा करते हैं।लंका यात्रा में हनुमान और अनेक वानर सेना का साथ मिलता है, जो बड़ी बड़ी परिक्षमा और युद्धों के बाद रावण का वध करते हैं और सीता को लंका से छुड़ा लेते हैं।इस रूप में, राम, सीता और लक्ष्मण के बीच संबंध और प्रेम की गहरी भावनाएं दर्शाई जाती हैं। उनकी कथाएँ हिंदू धर्म के मानने वालों के लिए प्रेरणा स्रोत बनती हैं और उन्हें धर्मिक और नैतिक मूल्यों के बारे में सीखते हैं। 

भगवान राम और उनके भाई लक्ष्मण के बारे में 15 रोचक तथ्य हैं:

1. राम और लक्ष्मण हिंदू धर्म के दो महानायक हैं, जिन्हें अवतार माना जाता है। राम विष्णु भगवान के सातवें अवतार और लक्ष्मण उनके अनुसार्थी रूप थे।
2. राम और लक्ष्मण के पिता का नाम राजा दशरथ था और माता का नाम रानी कौशल्या था।
3. राम और लक्ष्मण का जन्म स्थान अयोध्या नगरी था।
4. राम का पूरा नाम "रामचंद्र" था और लक्ष्मण का पूरा नाम "लक्ष्मण" था।
5. राम और लक्ष्मण के भाई शत्रुघ्न और भरत भी बड़े भाई थे।
6. लक्ष्मण राम के सबसे प्रिय भाई थे और उन्हें सीता के वियोग में उतना ही व्यथित देखने के कारण उनका नाम भी लक्ष्मण रखा गया था।
7. राम, सीता और लक्ष्मण के वनवास के दौरान उन्होंने अकल्पनीय साहसिक कार्यों को पूरा किया।
8. लक्ष्मण ने अपने भाई के लिए वनवास के दौरान सारे सुख-समृद्धि को त्याग करके संगीन और विशेष सेवा करने का संकल्प किया।
9. राम और लक्ष्मण को सीता का हरण करके रावण ने लंका ले जाया था, जिसके बाद राम लंका यात्रा करने के लिए रवाना संघर्ष करने के लिए निकले थे।
10. राम, हनुमान और अनेक वानर सेना के मिल-जुलकर संघर्ष के बाद लंका लौटे और रावण को वध किया गया।
11. राम, सीता और लक्ष्मण की वनवास के दौरान उन्होंने चित्रकूट पर्वत, पंचवटी, दंडकारण्य और रिक्षवन के वनों में विचरण किया।
12. राम का धनुर्विद्या में माहिर था और उन्होंने धनुष बाण के साथ अनेक राक्षसों को मारा।
13. राम और लक्ष्मण की कई भाषाओं में चित्रित की जाती है, जिसमें संस्कृत, अवधी, तेलगु, बंगाली, तमिल, मराठी, मलयालम, गुजराती आदि शामिल हैं।
14. रामायण में राम और लक्ष्मण की भाई-भाई के बीच प्रेम और समर्थन की गाथाएं दर्शाई जाती हैं।
15. राम और लक्ष्मण की कथा हिंदू धर्म के बच्चों को सदा प्रेरित करती है और उन्हें धर्मिक और नैतिक मूल्यों के पालन में सहायक सिद्ध होती है।

Comments