गणेश जी

जय श्री गणेश जी के बारे मैं सब कुछ

सनातन धर्म में भगवान श्री गणेश प्रथम पूजनीय माने जाते हैं। किसी भी मांगलिक और शुभ कार्य को शुरू करने से पहले विघ्नहर्ता भगवान श्री गणेश की आराधना और उनके प्रतीक चिन्हों की पूजा करने विधान है, जिससे सारे कार्य सूख पूर्वक संपन्न हो जाये और उसमें सफलता मिल सके। गणेश जी को सबसे पहले पूजने का वरदान भगवान शिव द्वारा प्राप्त है। 
गणेश, हिंदू धर्म के एक प्रमुख देवता हैं। वे विद्या, बुद्धि, विज्ञान, कला, संगीत, विजय, शुभ और अखंडता के प्रतीक के रूप में जाने जाते हैं। गणेश भगवान शिव और देवी पार्वती के पुत्र हैं। वे एक भगवान होते हैं जिनका शरीर हाथी के समान दिखता है और उनके सिर पर एक सूंदर मुख्य है। उनके पास एक छोटी सी मुद्रा भी होती है जो शुभ का प्रतीक है।
गणेश जी को विघ्नहर्ता (विघ्नों का नाश करने वाले) और विद्यार्थी विघ्न नाशक के रूप में भी पूजा जाता है। उन्हें पहले ही पूजन किया जाता है जिसे विध्या अरम्भ कहते हैं, ताकि विद्यार्थी अपनी शिक्षा के अच्छे प्रारंभ के लिए उनकी कृपा प्राप्त करें। गणेश चतुर्थी, जिसे भाद्रपद महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है, गणेश को विशेष रूप से पूजने का दिन है। गणेश भगवान के कारण वे समाज में शुभ और विद्या के प्रतीक के रूप में महत्वपूर्ण हैं और उनकी पूजा हिन्दू धर्म के विभिन्न समुदायों में व्यापक रूप से आत्मसात की जाती है।

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ।
निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥

Lord Ganesha
  1. श्री गणेशजी की आरती
  2. आरती गजबदन विनायक की 
  3. आरती श्री गणपति जी
  4. गणेश जी /गणपति सब कुछ
  5. भगवान गणेश चालीसा
  6. गणेश अष्टकम | गणेशाष्टकम् - संस्कृत गीतिकाव्य
  7. श्री गणेश स्तुति - ॐ गणांना त्वा गणपतिं हवामहे
  8. श्री गणेश स्तुति - ॐ गजाननं भूंतागणाधि सेवितम्
  9. श्री गणेश चिंतन
  10. श्री गणेश मंत्र - वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ
  11. ऋणहर्ता गणेश स्तोत्र
  12. श्री गणेश भगवान की अमृतवाणी
  13. गणेश भगवान के प्रसिद्ध मंत्रों में से कुछ मंत्र
  14. सिद्धिविनायक मंदिर श्री गणेश भगवान को समर्पित
  15. गणेश आरती - हिंदी में अर्थ सहित
  16. चार युगों में श्री गणेश के चार अवतार
  17. गणेश गौरव 'गणेश चतुर्थी व्रत का वर्णन
  18. श्री गणेश चालीसा
  19. गणेश जी के 108 नाम अर्थ सहित
  20. बुधवार भगवान गणेश जी की पूजा का महत्व  जानिए
  21. श्री गणेश  जी  के 108 नाम और मन्त्र
  22. श्री गणेश जी के पूजा मंत्र 
  23. एकदंत गणेश की महिमा
  24. श्री गणेश द्वादशनामावली जानिए

यह भी पढ़ें क्लिक करें-

गणेश जी के 32 नाम,jai ganesh,गणेश आरती,गणेश जी,गणेश भगवान का मंत्र,गणेश वंदना,पहले गणेश जी की आरती,श्री गणेश नमः,

Comments