इस्कॉन मंदिर इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्ण कंश्चियस कंश्चियस ऑफ नारायण" है /ISKCON temple is the International Society for Krishna Conscious Conscious of Narayan"

 इस्कॉन मंदिर इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्ण कंश्चियस कंश्चियस ऑफ नारायण" है/

 इस्कॉन मंदिर (ISKCON Mandir) भारत के राजधानी दिल्ली में स्थित एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है, जिसका नाम "इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्ण कंश्चियस कंश्चियस ऑफ नारायण" है। इसके अंग्रेजी नाम का शॉर्ट फॉर्म ISKCON है। इस मंदिर का मुख्य ध्येय भगवान श्रीकृष्ण की पूजा और उनके भक्ति-मार्ग को बढ़ावा देना है।
यह मंदिर 1998 में शिलान्यास हुआ था और इसका स्थान है ईएसओ बिल्डिंग्स के पास, संजय वन, दिल्ली। मंदिर का निर्माण वृंदावन के गोविन्दा देव जी मंदिर के समीप के रेवती नगर विस्तार के लिए आयोजित धार्मिक कार्यक्रम के पश्चात शुरू हुआ था।
ISKCON मंदिर एक आकर्षक भव्य संरचना है जिसमें संगमरमर का उपयोग किया गया है, और यह विश्वभर में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण और उनके साथी राधा रानी की मूर्तियों की पूजा की जाती है। यहां रोज़ाना भजन-कीर्तन, आरती और सत्संग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं, जिन्हें भक्त भागीदारी में भाग लेते हैं।
इस्कॉन मंदिर विश्वभर में कृष्ण भक्ति के साथ-साथ करुणा, शांति और साधुत्व के संदेश को प्रसारित करने के लिए जाना जाता है और लाखों लोग यहां आए हैं धार्मिक और आध्यात्मिक अनुभव के लिए।

विष्णु भगवान की कथा (Vishnu Bhagwan Katha)



हिंदू धर्म में एक प्रमुख कथा है जो विष्णु भगवान के अवतारों, लीलाओं और उनके दिव्य गुणों के वर्णन के माध्यम से भक्तों को प्रेरित करती है। यह कथा भागवत पुराण, विष्णु पुराण, रामायण, महाभारत और अन्य पुराणों में मिलती है।विष्णु भगवान को हिंदू धर्म में परमेश्वर के अवतार में से एक माना जाता है। उनके अवतारों में राम, कृष्ण, नृसिंह, वामन, वराह, परशुराम, बुध, कोरमा और कल्कि शामिल हैं। हर अवतार में, भगवान विष्णु का मुख्य उद्देश्य भक्ति और धर्म की स्थापना करना होता है और धर्म के प्रतिकारी तत्वों का संरक्षण करना होता है।
कथाएँ विष्णु भगवान के अवतारों के बारे में उनके लीलाओं, महिमा और अद्भुत कार्यों का वर्णन करती हैं। उनके भक्तों की भक्ति, श्रद्धा, धैर्य और निष्ठा की प्रशंसा भी की जाती है। इन कथाओं के माध्यम से लोगों को धार्मिक एवं नैतिक मूल्यों का पालन करने का प्रेरणा मिलता है और वे अधर्म और अन्याय से लड़ने के लिए प्रेरित होते हैं।
भगवान विष्णु की कथाएँ अधिकांशतः पुराणों, भजन, आरतियों और स्तोत्रों में मिलती हैं। इस्कॉन मंदिर में भी विष्णु भगवान की कथाएँ पढ़ने और सुनने के लिए समय-समय पर सत्संग और कथा-कीर्तन कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

इस्कॉन मंदिर विष्णु भगवान के बारे में 15 रोचक तथ्य

1. इस्कॉन मंदिर, दिल्ली विष्णु भगवान को समर्पित है और विश्वभर में प्रसिद्ध है।
2. मंदिर का निर्माण दिल्ली के संजय वन में स्थित ईएसओ बिल्डिंग्स के पास किया गया था।
3. मंदिर का निर्माण 1998 में पूरा हुआ था।
4. इस मंदिर में भगवान विष्णु की मूर्तियों के साथ ही राधा रानी की मूर्तियां भी स्थान पाती हैं।
5. मंदिर की वास्तुशिल्पी और स्थानीय विशेषज्ञों ने मंदिर को विशेष शैली में बनाया है, जो यातायात और भक्तों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए है।
6. इस मंदिर में दैनिक भजन-कीर्तन, आरती, भगवद गीता के पाठ, सत्संग और धार्मिक उत्सव आयोजित किए जाते हैं।
7. इस्कॉन मंदिर में भक्तों को सत्विक भोजन का प्रसाद भी बांटा जाता है।
8. मंदिर के प्रांगण में एक विशाल वृंदावन वातावरण बनाया गया है, जिसमें भक्त ध्यान और मेधा को बढ़ाने के लिए विराजमान होते हैं।
9. मंदिर के दीवारों पर भगवान कृष्ण के जीवन के कुछ प्रमुख घटनाओं की चित्रण किया गया है।
10. इस मंदिर में विशाल गोशाला भी है, जिसमें गाय, बैल, बकरी, और अन्य पशु-पक्षियों का ध्यान रखा जाता है।
11. मंदिर के भजन गायक और कीर्तनीयों ने विभिन्न अख़बारों और टीवी चैनलों पर भी अपनी ध्वनि उच्चारित की है।
12. इस्कॉन मंदिर दिल्ली में विशेष धार्मिक अनुष्ठान जैसे हरि नाम संकीर्तन, गीता पाठ, भगवत कथा आदि कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं।
13. इस मंदिर में एक संग्रहालय भी है जिसमें विभिन्न भगवान विष्णु और भक्तिन राधा रानी की मूर्तियों, पुराणिक कथाओं से संबंधित प्रदर्शनी आदि देखने को मिलता है।
14. मंदिर के सामर्थ्य नेतृत्व में सोशल वेलफेयर कार्य भी किए जाते हैं जैसे मिड डे मील प्रोग्राम, रसोई योजना, मेडिकल कैम्प, ब्लड डोनेशन आदि।
15. इस्कॉन मंदिर दिल्ली में हर साल जन्माष्टमी और दिवाली जैसे प्रमुख धार्मिक उत्सवों को धूमधाम से मनाया जाता है।
यहां दिए गए तथ्यों से आपको इस्कॉन मंदिर, दिल्ली में विष्णु भगवान के संबंध में अधिक जानकारी मिलेगी।

Comments