भगवान शिव उपाय भगवान शिव के नाम lord shiva remedies names of lord shiva

भगवान शिव उपाय भगवान शिव के नाम  

भगवान शिव के मंत्र  
1. "ॐ नमः शिवाय" (Om Namah Shivaya)
2. "ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्॥" (Om Tryambakam Yajamahe Sugandhim Pushtivardhanam,
Urvarukamiva Bandhanan Mrityor Mukshiya Maamritat)

भगवान शिव के नाम

1. महादेव (Mahadev)
2. नीलकंठ (Neelkanth)
3. शंकर (Shankar)
4. भोलेनाथ (Bholenath)
5. रुद्र (Rudra)
6. नाटराज (Nataraja)
7. पशुपति (Pashupati)
8. अशुतोष (Ashutosh)
9. गंगाधर (Gangadhar)
10. जटाधारी (Jatadhari)

भगवान शिव उपाय:

1. रोज़ाना भगवान शिव की पूजा करें।
2. शिव चालीसा, शिव मंत्र या शिव तांत्रिक मंत्र का जाप करें।
3. महाशिवरात्रि और सोमवार को विशेष रूप से भगवान शिव की पूजा करें।
4. अपने जीवन में शिव जी के गुणों को अपनाएं, जैसे की करुणा, धैर्य, त्याग, और समर्पण।
5. शिवरात्रि के दिन नीम के पेड़ की पूजा करें और उसकी पत्तियों को भगवान शिव को चढ़ाएं।
6. शिवलिंग का जल अभिषेक करें और बिल्व पत्र का चढ़ावा करें।
7. शिवजी का ध्यान करें और उनकी कृपा के लिए प्रार्थना करें।
8. सच्ची भक्ति और निष्ठा के साथ भगवान शिव की आराधना करें।
9. भगवान शिव के ॐ नमः शिवाय मंत्र का नित्य जाप करें।
10. शिवपुराण और शिव महापुराण को पढ़ें औ
भगवान शिव के मंत्र और उपायों को समझने के लिए योग्य और अनुभवी गुरु की मार्गदर्शन और सलाह की आवश्यकता होती है। शिव पूजा और मंत्रों का उपयोग धार्मिक और आध्यात्मिक उद्देश्यों के लिए किया जाता है। यहां कुछ शिव मंत्रों और उपायों का उल्लेख किया गया है, जिन्हें आप संदर्भ के रूप में ले सकते हैं:
1. शिव मंत्र:
"ॐ नमः शिवाय" (Om Namah Shivaya) - यह मंत्र भगवान शिव को समर्पित है और उनकी आराधना, पूजा और ध्यान के लिए उपयोगी है। इस मंत्र को नियमित रूप से जपने से चित्त शांति मिलती है और आत्मिक विकास होता है।
2. रुद्राष्टकम:
"नमामीशमीशान निर्वाणरूपं" (Namami Shamishan Nirvan Roopam) - यह आराधनात्मक मंत्र भगवान शिव की महिमा का वर्णन करता है। इसे नियमित रूप से पढ़ने से शिव भक्ति में स्थिरता और आत्मिक शांति प्राप्त होती है।
3. महामृत्युंजय मंत्र:
"ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्" (Om Tryambakam Yajamahe Sugandhim Pushtivardhanam) - यह मंत्र महामृत्युंजय रुद्राक्ष स्तोत्र का हिस्सा है और भगवान शिव की कृपा, स्वास्थ्य और आरोग्य की कामना करता है। इस मंत्र का जप करने से मृत्यु से मुक्ति प्राप्त होती है और अन्तरंग शक्ति जाग्रत होती है।
4. शिव उपाय:
भगवान शिव की कृपा प्राप्त करने के लिए आप निम्नलिखित उपायों का पालन कर सकते हैं:
- सोमवार को शिव मंदिर में जाकर पूजा और अर्चना करें।
- शिवलिंग पर जल चढ़ाएं और बेल पत्र, धूप, दीप, अक्षत और फूल चढ़ाएं।
- रुद्राक्ष की माला धारण करें और नियमित रूप से शिव मंत्रों का जाप करें।
- महाशिवरात्रि जैसे पवित्र त्योहार के दौरान नियमित व्रत रखें और भगवान शिव की पूजा करें।
याद रखें कि शिव पूजा और मंत्रों का उपयोग संयमित और प्रभावी भाव से करना चाहिए। समय-समय पर गुरु की मार्गदर्शन और सलाह लेना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

Comments