Khatu Shyam : जय श्री खाटू श्याम बाबा शायरी,स्टेटस,Jai Shri Khatu Shyam Baba Shayari, Status

Khatu Shyam : जय श्री खाटू श्याम बाबा शायरी,स्टेटस

मनोकामनाएं पूरी: कहा जाता है कि खाटू श्याम जी के दर्शन करने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं। हर रोज खाटू श्याम जी की आरती करने से सर्व मनोरथ सिद्ध होता है। शांति और समृद्धि: खाटू श्याम जी के दर्शन शांति और समृद्धि प्रदान करते हैं। खाटू श्याम जी के दर्शन के लिए राजस्थान के सीकर जिले में स्थित खाटू श्याम जी का मंदिर जाना होता है।
Jai Shri Khatu Shyam Baba Shayari, Status

Khatu Shyam : जय श्री खाटू श्याम बाबा शायरी,स्टेटस

वो इंसान ही किस काम का
जो नाम न ले मेरे श्याम का !
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

रूठो मत, हमें मनाना नहीं आता, 
दूर मत जाना, हमें बुलाना नहीं आता।
तुम भूल जाओ तुम्हारी मर्जी, 
मगर हम क्या करें......
हमें तो भुलाना भी नहीं आता। 
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

होगा इक रोज़ तुमको भी, किस्मत पे अपनी नाज़!
चरणों में उनके सिर को,  झुका कर देखिये..!!
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

बाबा मैंने तेरे दरबार पर सर रख दिया
अब अमीर बना दे या फ़कीर यो तेरी मर्ज़ी !
_________________________

 खाटू में बैठा है एक छलिया जादूगर 
मिल जाती इसकी नजरों से जिसकी नजर
उसके सिर चढ़ जाता इसके जादू का असर 
चाह कर भी वो भूल न पाए  खाटू की डगर 
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

कर दिया दुखों से आजाद खाटू वाले, 
मे फिर चिन्ता किस बात की करू
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

श्याम नाम की बगिया है ये श्याम भरोसे जीवन ।
लेते नाम हमेशा श्याम का श्याम को अर्पण जीवन ।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

मेरे श्याम तेरी एक नजर देखकर दिल को सुकून मिलता है
आखिर आपके दीदार के लिए तड़पता हु !
_________________________

हे मेरे श्याम बाबा...रूठना मत कभी हमसे,
मना नहीं पायेंगे......
तेरी वो कीमत है मेरी जिंदगी में, कि शायद
हम अदा नहीं कर पायेंगे....
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

की ये जो मे हर पल मुस्कुरता हु जनाब
ये सब मेरे श्याम की कृपा है !
_________________________

श्याम की तारीफ़ करूँ कैसे, मेरे शब्दों में इतना जोर नहीं।
चाहे सारी दुनिया में ढूंढ लेना, पर मेरे श्याम जैसा कोई और नहीं।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

मेरा श्याम मुस्कुरता कमाल है
इसलिए हम दीवाने है !
_________________________

मेरे श्याम की मुस्कान गुलाब है,
प्यार उसका बेहिसाब है।
दुनिया में हर सवाल का जवाब है,
पर मेरा श्याम छलिया लाजवाब है।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

बोल उठती है तस्वीर भी, मन से बुला कर देखिये!
दिल की बात ज़रा सावरे को, सुना कर देखिये!
_________________________

मेरे श्याम बाबा की तरह कोई खास नहीं है
और जिस चीज़ पर हाँथ रख दे फिर किसी ताज से कम नहीं है !
_________________________

किस से सीखूं मैं बंदगी तेरी सब के अपने अपने भाव है
कोई कहे अहिलावती का लाला, कोई कहे मोर्वी का लाल है
मैं तो बस इतना ही जानू,  खाटू के दरबार में बैठा
भक्तों का रखवाला मेरा श्याम है
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

न दिल से मोहब्बत, न किसी से प्यार है
और मुझे कोई इसलिए नहीं हरा सकता
क्युकी मेरे साथ मेरे बाबा खाटू श्याम है !
_________________________

तेरे मेरे इस प्रेम के बंधन को, हे प्रभु सदा बनाये रखना ।
जीवन के हर मोड़ पे श्याम, सदा तूँ साथ देते रहना ।।
।। जय श्री श्याम ।।
_________________________

तेरी सूरत को रूह में उतार लूं
जिन्दगी अपनी तेरी चाहत में संवार लूं
दर्शन हो तुम्हारा कुछ इस तरह
सारी उम्र बस उस एक दर्शन में गुजार लूं
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

मैं हार जाऊ इतना कमजोर कोन्या
जीतना मेरी किस्मत लिखा है,
मेरे बाबा श्याम जो मेरे साथ है !
_________________________

बढ़ गया जिस रास्ते पे, तेरी ये चित्तवन ले चली,
भा गयी छवी श्याम की, झाकी तेरी तेरी लगती भली।।
_________________________

मैं हार जाऊ इतना कमजोर कोन्या
जीतना मेरी किस्मत लिखा है,
मेरे बाबा श्याम जो मेरे साथ है !
_________________________

तेरे रहमो कर्म से मै तेरा गुणगान करता हु
तेरा नाम इतना प्यारा है श्याम मेरे
जिसपर मे खुद से ज़्यदा यकीं करता हु !
_________________________

कृपा आपकी रही तो ऐसा नाम कर जाऊंगा
दर्सन हो गए आपके
तो आपको अपने दिल मे बसा जाउगा !
_________________________

इतना क्या कम है उपकार तेरा।
इज्जत की रोटी खाता परिवार मेरा।।
कैसे भुलुंगा ये एहसान तेरा।
हाथ किसी के आगे फैला न मेरा।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

तेरा नाम जपकर बाबा पूरी दुनिया को श्याम नाम में रंग जायेंगे
मरते मरते हम बाबा इस कलयुग को भी "श्याम युग" बना जायेंगे
।।जय श्री श्याम।।
_________________________

श्याम के दरबार मे आकर, कोई हारता नहीं
और एक बार जो इसके दर पर सर रख दे
फिर उसको वो मिल जाता जो वो कभी सोच पता नहीं !
_________________________

श्याम तेरी मेरी प्रीत पुरानी
यहां शक की ना गुंजाइश है
रखना हमेशा तेरे चरणों में ही 
बस छोटी सी ये फरमाइश है।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

मोर छड़ी और काली कमली, होंठो पे मुस्कान है ।
बिन मांगे जो भर देता झोली, ऐसा मेरा श्याम है ।।
।।जय श्री श्याम।।
_________________________

टूटे हुए दिल की दवा मांग रहा हु
सरकार आपके दामन की हवा मांग रहा हु,
कान पकड़ कर ले चलिए मुझे खाटूधाम
मुजरिम हु, आपके दीदार की सजा मांग रहा हु !
_________________________

मेरी किस्मत मे जो नहीं था वो मिल गया
मैंने बस एक बार दिल से मांगा था !
_________________________

आओ दीवानगी का किस्सा, दो लाइन में तमाम करें।
जहाँ भी मिले श्याम दीवाने उन्हें झुक के ‘जय श्री श्याम’ करें।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

किस्मत बदलना जिनके हाँथ मे है
उनका हाँथ है मेरे सर पर !
_________________________

जिंदगी में उनके बदलाव हो गया
जिनको मेरे श्याम से लगाव हो गया।
जिसने भी प्रेम किया है मेरे श्याम से
दूर जिंदगी का हर अभाव हो गया।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

किस्मत बदलना जिनके हाँथ मे है
उनका हाँथ है मेरे सर पर !
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

श्याम आशीर्वाद दो की कोई रास्ता निकाल सकूँ।
तुम्हे भी देख सकूँ और खुद को भी संभाल सकूँ।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

मुझे थाम लो दुखो से, आया हु हार करके ।
थक सा गया हूं बाबा, जग को पुकार करके ।
इक आस दिल में मेरे, बाकी है श्याम तेरी ।
लो आगया अब तो श्याम मै शरण तेरी ।।
।। जय श्री श्याम।।
_________________________

मेरा श्याम वो दानवीर है जो किसी को खली नहीं भेजता
फिर गरीब हो या भिखरी !
_________________________

Comments