भगवान राम माता सीता 2 लाइन शायरी स्टेटस संदेश,Lord Ram Mata Sita 2 Line Shayari Status Message

भगवान राम माता सीता 2 लाइन शायरी स्टेटस संदेश

भगवान राम माता सीता के बारे में

भगवान राम और माता सीता की पहली मुलाकात जनकपुर की पुष्प-वाटिका में हुई थी. रामचरितमानस के बालकांड में इस मुलाकात का ज़िक्र है. माता सीता एक राजकुमारी थीं, लेकिन अपने पति श्रीराम के वनवास जाने पर वह उनके साथ 14 साल तक जंगलों में रहने को तैयार हो गईं. राक्षस राजा ने खुद को एक बूढ़े व्यक्ति के रूप में प्रच्छन्न किया और सीता को धोखा दिया. तपोवन में सीता को वाल्मीकि ने अपने आश्रम में जगह दी और वहीं उन्होंने लव और कुश नामक पुत्रों को जन्म दिया !
माता सीता के जन्म की कई कथाएं प्रचलित हैं. कहा जाता है कि राजा जनक जब खेत में हल चला रहे थे, तब उनका हल एक बक्से या कलश से टकरा गया. उन्होंने उसे धरती से निकाला और खोला, जिसमें एक कन्या शिशु थी. उन्होंने उसका नाम सीता रखा था. इसी वजह से माता सीता को जनक नंदिनी के नाम से भी जाना जाता है !
भगवान राम और माता सीता की कहानी रामायण और रामकथा पर आधारित अन्य ग्रंथों में मिलती है. भगवान राम, अयोध्या के राजा दशरथ और रानी कौशल्या के सबसे बड़े पुत्र थे. वहीं, माता सीता, मिथिला (सीतामढ़ी, बिहार) के राजा जनक की ज्येष्ठ पुत्री थीं. माता सीता को लक्ष्मी जी का अवतार भी माना जाता है. कहा जाता है कि जब विष्णु जी के अवतार के रूप में भगवान राम ने धरती पर अवतार लिया, तब माता सीता ने भी लक्ष्मी के अवतार के रूप में जन्म लिया था !
Lord Ram Mata Sita 2 Line Shayari Status Message

भगवान राम माता सीता 2 लाइन शायरी स्टेटस संदेश

आरती श्री जनक दुलारी की ।
सीता जी रघुवर प्यारी की ॥
____________________

जगत जननी जग की विस्तारिणी,
नित्य सत्य साकेत विहारिणी,
परम दयामयी दिनोधारिणी,
सीता मैया भक्तन हितकारी की ॥
____________________

Lord Ram Mata Sita 2 Line Shayari Status Message

अयोध्या नगरी जब पराई बन गई थी
तो सीता राम की परछाई बन गई थी
____________________

 राम के बिना रामायण अधूरी है
सीता के बिना प्रभु राम अधूरे हैं
____________________

तुम गीता बन जाना मैं पुराण बन जाऊंगा
तुम सीता बन जाना मैं राम बन जाऊंगा
____________________

Lord Ram Mata Sita 2 Line Shayari Status Message

असली और सच्चे प्रेम की निशानी तो रामसेतु है
कौन कहता है ताजमहल प्रेम की निशानी है
____________________

जोड़ी पूरी हो तो सीताराम की जैसी हो
और अधूरी हो तो राधेश्याम की तरह हो
____________________

सूरज के बिना यह ज़हान अधूरा है
सीता का नाम लिए बिना प्रभु 
श्री राम का गुणगान अधूरा है
____________________

हर परिस्थितियों में वे हंसते हैं
जिनके सीने में सीता राम बसते हैं
____________________

सचमुच यह जीवन धन्य हो जाए
अगर राम सीता के एक साथ दर्शन हो जाए !
____________________

चुराकर सीता को कैसे बच जाता रावण
जिस राम की सांसे सीता से चलती थी
____________________

Lord Ram Mata Sita 2 Line Shayari Status Message

"जनकसुता जग जननि जानकी। 
अतिसय प्रिय करुनानिधान की॥ "
____________________

सीता के मन में राम, राम के मन में सीता बसती थी
सीता का हरण रावण की सबसे बड़ी गलती थी
____________________

 मां जानकी हम सभी पर,
अपना प्यार और दुलार बनाए रखें,
प्रभु श्रीराम के साथ सदैव,
हमारे मन मंदिर में विराजित रहें.
____________________

Lord Ram Mata Sita 2 Line Shayari Status Message

नारी का मान स्थापित किया सीता ने,
कहलाए मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम,
____________________

जितने दुख सहे सीता ने
भला उतने दुख कौन सहता है?
जितना त्याग किया श्रीराम ने
भला उतना त्याग कौन करता है?
____________________

जनकसुता जग जननी जानकी।
अतिसय प्रिय करुनानिधान की॥
____________________

हर तरफ फैली नफरत है,
हर तरफ नकारातमकता हैं।
श्री राम का नाम ले बस,
फिर कट जाएगी सारी विपत्ति है।
____________________

हमेशा साथ देना हमारा,
जग से नाता टूट गया है।
बस तू ही मार्गदर्शन करना हमारा।
____________________

केवट को तारा प्रभु ने,
अहिल्या को किया मुक्त प्रभु ने।
शबरी के खाए बेर,
इस दुनिया को नया अध्याय सिखाया प्रभु ने।
____________________

Lord Ram Mata Sita 2 Line Shayari Status Message

श्री राम जी के प्रिए भक्त है हनुमान,
सबके बना देते है वो बिगड़े काम।
____________________

मेरे राम सबका भला करते हैं,
जो करता है याद उनको,
वो व्यक्ति कष्टों से मुक्त होता है।
____________________

सिया राम सिया राम बोलो,
सब अच्छा होगा।
अरे क्यों फिक्र करता है,
सब श्री राम के अनुसार होगा।
____________________

मेरे श्री राम सबके दुख़ हर लेंगे,
एक बार विनती तो कर।
कण कण में है वो,
एक बार सच्चे मन से मान के तो देख।
____________________

Comments