जानिए 04 जनवरी 2024 को मासिक कालाष्टमी के बारे में

 जानिए 04 जनवरी 2024 को मासिक कालाष्टमी के बारे में Know about Masik Kalashtami on 04 January 2024

जनवरी 2024 में 4 जनवरी को मासिक कालाष्टमी होने वाली है। यह कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि है, जो कालाष्टमी के रूप में मानी जाती है और इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है।
इस दिन भगवान शिव की आराधना करने, शिवलिंग की पूजा करने और मंत्रों का जाप करने का विशेष महत्व होता है। लोग इस दिन व्रत रखते हैं और शिव भक्ति में लीन होते हैं।

कालाष्टमी
कालाष्टमी हिन्दू धर्म में महत्वपूर्ण त्योहार है जो 
भगवान शिव को समर्पित है। यह प्रत्येक माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। 

कालाष्टमी पूजा के अनेक लाभ होते हैंजो निम्नलिखित हो सकते हैं- भगवान शिव की कृपा: इस दिन की पूजा से भगवान शिव की कृपा प्राप्त होती है, जो भक्तों को शुभ और सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती है।

कालाष्टमी के दिन पूजा करते समय कुछ मंत्रों का जाप किया जाता कालाष्टमी के दिन भगवान शिव और माँ काली की पूजा करते समय कुछ मंत्रों का जाप किया जाता है। ये मंत्र उन्हें समर्पित किए जाते हैं और भक्तों को ऊर्जा, शक्ति और आशीर्वाद प्रदान करते हैं। यहां कुछ महत्वपूर्ण मंत्र हैं:

कालाष्टमी के बारे में कुछ रोचक तथ्य
महत्वपूर्ण धार्मिक त्योहार: कालाष्टमी हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण एक त्योहार है जो भगवान शिव और माँ काली को समर्पित है।
कृष्ण पक्ष की अष्टमी: कालाष्टमी कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मानता है, जो पूजा और व्रत के लिए प्रतिष्ठित है।


आवश्यक वस्तुएं कालाष्टमी पूजा की समग्री में कुछ 
कालाष्टमी पूजा की समग्री में कुछ आवश्यक वस्तुएं शामिल होती हैं जो पूजा की सहायता के लिए उपयोगी होती हैं। यहां कुछ महत्त्वपूर्ण सामग्री की सूची है:-

मासिक कालाष्टमी, हिंदू पंचांग के अनुसार हर माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाने वाला एक त्योहार है। यह प्रत्येक माह के कालाष्टमी को संदर्भित करता है

कालाष्टमी  की कथा  
कालाष्टमी कथा में विशेष रूप से भगवान शिव और माँ काली की महिमा और उनके बारे में वर्णन होता है। यह कथा उनके अद्भुत लीलाओं और कृपाओं को बताती है 

कालाष्टमी पूजा की विधि-
सफाई और तैयारी: पूजा स्थल को साफ़ करें और सभी सामग्री को सजाएं।
शुद्धि करना: हाथों को धोकर पवित्रता प्राप्त करें और गंगाजल या पानी से अपने शरीर को स्नान करें।

मासिक कालाष्टमी महत्व और व्रत अनुष्ठान 
मासिक कालाष्टमी एक महत्वपूर्ण हिंदू त्योहार है जो हर माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। 

शिव का त्योहार: कालाष्टमी 
 कालाष्टमी, जोकि शिवरात्रि के दिन भी मनाई जाती है, भगवान शिव को समर्पित एक महत्वपूर्ण हिंदू त्योहार है। इस दिन कालाष्टमी तिथि के अनुसार भगवान शिव और उनकी पत्नी पार्वती की पूजा-अर्चना की जाती है।

कालाष्टमी पूजा विधि
कालाष्टमी पूजा को ध्यान से और नियमित तरीके से अनुसरण करना चाहिए। यहां कुछ आम कालाष्टमी पूजा की विधि के तत्व हैं

कालाष्टमी व्रत कथा
बहुत पुराने समय की बात है, एक गांव में एक गरीब व्यक्ति था जिसका नाम सुधामा था। वह बहुत ईमानदार और भगवान शिव के भक्त थे। 

कालाष्टमी शिव और काली 
कालाष्टमी हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण त्योहार है जो भगवान शिव और माँ काली को समर्पित है। यह त्योहार हर माह की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है, लेकिन ज्यादातर लोग भगवान शिव की पूजा इस दिन करते हैं।

कालाष्टमी व्रत अनेक लाभ
कालाष्टमी व्रत का पालन करने से व्यक्ति को अनेक लाभ हो सकते हैं। यह व्रत भगवान शिव को समर्पित होता है

शिव व्रत कृपा प्राप्त
कालाष्टमी व्रत भगवान शिव को समर्पित है और यह व्रत उनकी कृपा और आशीर्वाद प्राप्ति के लिए किया जाता है।

यहां कुछ लाभ दिए जा रहे हैं जो कालाष्टमी व्रत का पालन करने से हो सकते हैं:-
शिव कृपा: इस व्रत का पालन करने से भगवान शिव की कृपा प्राप्त हो सकती है।


कालाष्टमी के बारे में कुछ रोचक तथ्य  महत्वपूर्ण धार्मिक त्योहार: कालाष्टमी हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण एक त्योहार है जो भगवान शिव और माँ काली को समर्पित है।

फरवरी में कालाष्टमी व्रत 
माघ, कृष्ण अष्टमी शक्रवार ,03 फरवरी 2024 

कालाष्टमी व्रत मार्च में
फाल्गुन, कृष्ण अष्टमी रविवार, 04 मार्च 2024 

कालाष्टमी व्रत अप्रैल में
चैत्र, कृष्ण अष्टमी रविवार, 04 अप्रैल 2024 

कालाष्टमी व्रत मई में
वैशाख, कृष्ण अष्टमी बुधवार, 2 मई 2024
ज्येष्ठ, कृष्ण अष्टमी  गुरुवार, 31 मई 2024

कालाष्टमी व्रत जून में
आषाढ़, कृष्ण अष्टमी शुक्रवार, 29 जून 2024

कालाष्टमी व्रत जुलाई में
श्रावण, कृष्ण अष्टमी शनिवार, 28 जुलाई 2024

कालाष्टमी व्रत अगस्त में
भाद्रपद, कृष्ण अष्टमी सोमवार, 27 अगस्त 2024

कालाष्टमी व्रत सितंबर में
अश्विन, कृष्ण अष्टमी मंगलवार, 25 सितंबर 2024

कालाष्टमी व्रत अक्टूबर में
कार्तिक, कृष्ण अष्टमी गुरुवार, 25 अक्टूबर 2024

कालाष्टमी व्रत नवंबर में
मार्गशीर्ष, कृष्ण अष्टमी ( कालभैरव जयंती )शुक्रवार, 23 नवंबर 2024

कालाष्टमी व्रत दिसंबर में
पौष, कृष्ण अष्टमी रविवार, 23 दिसंबर 2024 








Comments