भगवान विष्णु के 12 नामों का जाप, पूरी होगी हर मनोकामना! /Chanting 12 names of Lord Vishnu, every wish will be fulfilled!

भगवान विष्णु के 12 नामों का जाप, पूरी होगी हर मनोकामना!

भगवान विष्णु के 12 नाम 

- अच्युत, अनंत, दामोदर, केशव, नारायण, श्रीधर, गोविंद, माधव, हृषिकेश, त्रिविक्रम, पद्मनाभ, मधुसूदन।

अच्युत: अच्युत भगवान विष्णु का एक नाम है जिसका अर्थ होता है "अविनाशी" या "अच्युत". यह नाम उनकी अविनाशी और अपरिवर्तनशीलता को दर्शाता है।

अनंत: अनंत भगवान विष्णु का एक और नाम है जिसका अर्थ होता है "अनंत" या "अविनाशी". यह नाम भगवान की अनंतता और अविनाशिता को संकेत करता है।


दामोदर: दामोदर भगवान विष्णु का एक नाम है, जिसका अर्थ होता है "दामन धारी"। इस नाम के माध्यम से उनका स्वरूप दर्शाया जाता है जब बाल रूपी भगवान कृष्ण ने माखन चुराते समय माता यशोदा ने उन्हें डंका लगाया था।
केशव: केशव भगवान विष्णु का एक और प्रसिद्ध नाम है जिसका अर्थ होता है "बालकेशव" या "मुकुंद"। इस नाम से भगवान के रूपों की प्रशंसा की जाती है, विशेष रूप से उनके बालक और आकर्षक स्वरूप की।

नारायण: नारायण भगवान विष्णु का एक प्रसिद्ध नाम है जो उनके नामों में सबसे आदिक है। यह नाम उनकी सर्वव्यापितता और उनके संसार के सृष्टि और संहार को दर्शाता है।

श्रीधर: श्रीधर भगवान विष्णु का एक और नाम है जिसका अर्थ होता है "लक्ष्मीधर" या "हरि"। यह नाम उनके लक्ष्मी (देवी महालक्ष्मी) के संग रहने को दर्शाता है और उन्हें हर्षित करने वाला होता है।
गोविंद: गोविंद भगवान विष्णु का एक प्रसिद्ध नाम है जिसका अर्थ होता है "गौवत्सार" या "गौहर्दन करने वाला"। इस नाम से उनके गोपाल रूप, गोपियों के संग नृत्य, और गो-संरक्षण के संबंध में बताया जाता है।
माधव: माधव भगवान विष्णु का एक नाम है जिसका अर्थ होता है "यज्ञोपवीतधारी" या "मातरगन्ध"। इस नाम के माध्यम से उनका धर्म और यज्ञोपवीत का महत्व बताया जाता है।

हृषिकेश: हृषिकेश भगवान विष्णु का एक नाम है जिसका अर्थ होता है "हृदय का स्वामी" या "इंद्रियों के संचालक"। यह नाम उनके मन, इंद्रियों और जगत के संचालन को दर्शाता है।

त्रिविक्रम: त्रिविक्रम भगवान विष्णु का एक नाम है जिसका अर्थ होता है "तीन छढ़ाई करने वाला"। इस नाम से उनके वामन अवतार को और उनके विशाल स्वरूप को दर्शाया जाता है।

पद्मनाभ: पद्मनाभ भगवान विष्णु का एक और नाम है जिसका अर्थ होता है "पद्मरेखा धारी" या "जिसकी नाभि में ब्रह्मांड स्थित है"। इस नाम से उनके क्षीरसागर में सोते हुए और विश्व के सृष्टिऔर संहार के संबंध में बताया जाता है।

मधुसूदन: मधुसूदन भगवान विष्णु का एक और प्रसिद्ध नाम है जिसका अर्थ होता है "मधु नाश करने वाला"। इस नाम से उनके दैत्य मधु नाशन को और धर्म की पुनर्स्थापना को दर्शाया जाता है।

ये सभी नाम हिंदू धर्म में पाए जाने वाले भगवान विष्णु के विभिन्न नाम हैं। विष्णु भगवान को हिंदू धर्म में ईश्वर का एक महत्वपूर्ण रूप माना जाता है। ये नाम भक्तों द्वारा प्रयोग किए जाते हैं और उन्हें उनके संबंधित भगवान के साथ संबंधित गुणों और विशेषताओं को याद करने के लिए प्रयोग किया जाता है। ये नाम धार्मिक पाठ, पूजा, आरती, भजन आदि में उपयोग होते हैं और भगवान विष्णु के भक्तों के लिए महत्वपूर्ण हैं।

मार्गशीर्ष मास 

मार्गशीर्ष मास (अगहन मास) का पहला गुरुवार हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है। इस दिन को "कृष्ण पक्ष" की "शुक्ल पक्ष" का प्रथम दिन माना जाता है, जिसे धार्मिक रूप से पुण्यकाल माना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की आराधना, भक्ति और पूजा करने से मान्यता है कि मनचाहा वरदान प्राप्त होता है।
भगवान विष्णु के 12 नाम यानी "द्वादशनाम स्तोत्र" का पाठ करने से भी धार्मिक और मनोयोग संबंधी लाभ मिलते हैं। इन नामों के प्रत्येक नाम में विशेष गुणों और महत्व का प्रतीक होता है, और इनका जाप और स्मरण भगवान विष्णु के आपूर्ति और कृपा को प्राप्त करने में मदद करता है। इसलिए, अगहन मास के पहले गुरुवार को भगवान विष्णु के 12 नामों का जाप करने से मान्यता है कि मनचाहा वरदान प्राप्त हो सकता है।
यद्यपि इनका मन्त्रजाप और आराधना धार्मिक मान्यताओं से जुड़ी होती है, लेकिन धार्मिक आदर्शों और प्राथमिकताओं के अलावा भी, इन नामों का जाप ध्यान, शांति, स्थिरता और संतुलन को प्राप्त करने में सहायक हो सकता है। यह नाम स्तोत्र भक्ति और आध्यात्मिक अभिरूचि को संबोधित करता है और विशेष रूप से भगवान विष्णु के आत्मिक स्वरूप के साथ संबंधित होता है।

Comments