भगवान शिव को कैसे प्रसन्न करें / how to please lord shiva

 भगवान शिव को कैसे प्रसन्न करें

1. मांगलिक व्रत: भगवान शिव के व्रत रखने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है। आप महाशिवरात्रि, पूर्णिमा व्रत, सोमवार व्रत आदि को नियमित रूप से मान्यतापूर्वक आचरण कर सकते हैं।
2. शिवलिंग पूजा: शिवलिंग की पूजा भगवान शिव की उपासना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। नियमित रूप से शिवलिंग पूजा करें और उन्हें जल, दूध, दही, घी, मधु, फूल, बेलपत्र, धूप, दीप आदि से अर्चना करें।
3. मन्त्र जाप: भगवान शिव के मन्त्रों का जाप करने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है। "ॐ नमः शिवाय" और "महामृत्युंजय मंत्र" जैसे मंत्रों का नियमित जाप करें।
4. शिव मंदिर यात्रा: भगवान शिव के प्रमुख मंदिरों की यात्रा करें, जैसे कि केदारनाथ, अमरनाथ, सोमनाथ, ज्योतिर्लिंग यात्रा आदि। इन मंदिरों में उनके ध्यान और भक्ति में समय बिताने से वे प्रसन्न होते हैं।
5. अहिंसा और सदभाव: भगवान शिव अहिंसा, सदभाव, और मानवता के प्रचारक हैं। इनके गुणों का आचरण करें और सभी जीवों के प्रति सहानुभूति और करुणा बनाए रखें।
6. सेवा: भगवान शिव को सेवा करने का एक अच्छा तरीका है। आप उनके मंदिरों में सेवा कर सकते हैं, जैसे कि पुष्पांजलि देना, धूप और दीप जलाना, भजन-कीर्तन करना, चादर सजाना आदि।
भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए आप निम्नलिखित उपायों का पालन कर सकते हैं:
7. ध्यान करना: भगवान शिव के ध्यान में लगे रहने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है। मौन ध्यान या मन्त्र जप करके उनके सामीप्य को अनुभव करने का प्रयास करें।
8. शिवलिंग की पूजा: शिवलिंग को शुद्ध और विधिपूर्वक पूजन करें। जल, धूप, चंदन, फूल, अर्चना, बेल पत्र आदि के साथ पूजा करने से भगवान शिव को प्रसन्नता मिलती है।
9. महाशिवरात्रि पर्व का उत्सव मनाना: महाशिवरात्रि भगवान शिव को समर्पित होता है। इस दिन उनके भजन, पूजा, व्रत, ध्यान आदि करने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है।
10. साधना और धार्मिक आचरण: धार्मिक जीवन जीने और दयानुसार जीवन बिताने से भगवान शिव को प्रसन्नता मिलती है।
11. भगवान शिव के नामों का जाप: "ॐ नमः शिवाय" जैसे मंत्रों का जाप करने से भी उन्हें प्रसन्नता मिलती है।
12. सेवा भाव: अपने समाज और अन्य मानवता के प्रति सेवा भाव रखने से भगवान शिव को प्रसन्नता मिलती है।
भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए निम्नलिखित कुछ उपाय किए जा सकते हैं:
13. शिवलिंग की पूजा: शिवलिंग को पूजन करना शिव के प्रतीक रूप माना जाता है। आप एक शिवलिंग का आराधना कर सकते हैं और अपने भक्ति और समर्पण के साथ उसे स्नान कराएं, धूप, दीप, फूल आदि से अलंकृत करें।
14. महाशिवरात्रि का व्रत: महाशिवरात्रि शिव के महत्वपूर्ण त्योहार है। इस दिन आप महाशिवरात्रि का व्रत रखकर भगवान शिव की पूजा कर सकते हैं। इस दिन उनकी चारों पहरों में नित्या और तत्काल पूजा करने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है।
15. शिव चालीसा और मंत्रों का जाप: भगवान शिव की चालीसा और मंत्रों का जाप करने से आप उन्हें प्रसन्न कर सकते हैं। शिव ताण्डव स्तोत्र, महामृत्युंजय मंत्र, शिव पंचाक्षरी मंत्र आदि का जाप करना उनकी कृपा और आशीर्वाद प्राप्त करने में मदद कर सकता है।
16. अति रुद्राभिषेक: यदि संभव हो तो आप अपने प्रार्थना स्थल पर अति रुद्राभिषेक करवा सकते हैं। इसमें पवित्र जल, धूप, फूल, चंदन आदि का उपयोग किया जाता है।
17. शिव आरती का पाठ: शिव आरती का पाठ करने से आप भगवान शिव को प्रसन्न कर सकते हैं। इसके द्वारा आप उनके गुणों की स्तुति करते हैं और उनकी कृपा को आप अपने जीवन में महसूस कर सकते हैं।

समय-समय पर भगवान शिव को भक्ति और समर्पण के साथ आपके जीवन की समस्याओं का हल ढूंढ़ने में सहायता करते हैं। यह उपाय आपकी निश्चितता और समर्पण के साथ किए जाने चाहिए।आपको भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए है। ध्यान दें कि शिव की भक्ति और सेवा मन की सच्ची श्रद्धा और नियति के साथ की जानी चाहिए। श्रद्धालु हों और शिव की भक्ति में नियमित रूप से समय बिताएंगे, तो यह आपकी शिव के प्रति भक्ति और आस्था को बढ़ाएगा। ध्यान रखें कि इसके अलावा नेगेटिविटी से दूर रहें, सत्य और न्याय का पालन करें, और दूसरों की मदद करें। यह सभी कार्य आपको भगवान शिव को प्रसन्न करने में मदद करेंगे।

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उपाय  तथ्यों का पालन किया जा सकता है:

1. भक्ति और समर्पण: भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए सच्ची भक्ति और समर्पण के साथ उन्हें पूजन करें।
2. शिव मंदिर यात्रा: शिव मंदिरों की यात्रा करने से भगवान शिव के प्रति आदर और सम्मान जताया जा सकता है।
3. श्रद्धा से रहें: शिव के प्रति श्रद्धा और सम्मान रखें, और अशुभ विचारों को दूर करें।
4. शिव जी की आरती और भजन: रोजाना शिव जी की आरती और भजन गाने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है।
5. महाशिवरात्रि का व्रत: महाशिवरात्रि पर व्रत रखकर उनकी पूजा करें और उन्हें भोजन और अर्चना करें।
6. मंत्रों का जाप: शिव के मंत्रों का जाप करने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है।
7. पंचामृत का अभिषेक: शिव लिंग को पंचामृत (दूध, घी, दही, मधु, शहद) से स्नान कराने से उन्हें प्रसन्नता मिलती है।
8. शिव कथाओं का सुनना: शिव कथाओं को सुनने से उन्हें खुशी मिलतीहै और उनकी कृपा प्राप्त होती है।
9. सत्यनाम का जाप: शिव के सत्यनाम का जाप करने से उन्हें आनंद मिलता है और उनकी प्रसन्नता होती है।
10. धार्मिक कर्मों का पालन: धार्मिक कर्मों का पालन करें और अपने जीवन में उच्चतम मूल्यों का अनुसरण करें, जिससे भगवान शिव को प्रसन्नता मिलती है।
यह थे कुछ उपाय और तथ्य जिनके माध्यम से आप भगवान शिव को प्रसन्न कर सकते हैं। यदि आप इन्हें नियमित रूप से अपने जीवन में अपनाएंगे, तो आप भगवान शिव के आशीर्वाद का आनंद उठा सकते हैं।

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए उनके मंत्रों 

1. ॐ नमः शिवाय (Om Namah Shivaya): यह मंत्र शिव के प्रमुख मंत्रों में से एक है। इसका जाप करने से शिव की कृपा प्राप्त होती है और मन की शांति मिलती है।
2. ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्॥ (Om Tryambakam Yajamahe Sugandhim Pushti-Vardhanam। Urvarukamiva Bandhanan Mrityor Mukshiya Mamritat॥): यह मंत्र महामृत्युंजय मंत्र के रूप में भी जाना जाता है। इसका जाप करने से रोगों से मुक्ति मिलती है और जीवन की प्राकृतिक उत्पत्ति और मृत्यु के चक्र से मुक्ति होती है।
3. ॐ नमः शिवाय जय शिव शंकर (Om Namah Shivaya Jai Shiv Shankar): यह मंत्र शिव की स्तुति और महिमा को व्यक्त करने के लिए उच्चारित किया जाता है। इसका जाप करने से भक्ति और समर्पण की भावना में वृद्धि होती है।
4. ॐ नमो भगवते रुद्राय (Om Namo Bhagavate Rudraya): यह मंत्र भगवान शिव की पूजा और स्तुति के लिए उच्चारित किया जाता है। इसका जाप करने से भक्ति का आनंद मिलता है और भगवान शिव की कृपा प्राप्त होती है।
आप इन मंत्रों को अपने शिव पूजा अथवा ध्यान सत्र में जाप कर सकते हैं। ध्यान और समर्पण के साथ इन मंत्रों का जाप करने से आप भगवान शिव को प्रसन्न कर सकते हैं।

Comments