पढ़े रामायण से संबंधित प्रश्न उत्तर 451,Read questions and answers related to Ramayana 451

पढ़े रामायण से संबंधित  प्रश्न उत्तर 451 से 475 तक

प्रश्न 451. सीताजी की खोज के लिए सुग्रीव ने हनुमान एवं अंगद को किस दिशा में भेजा था?
  • दक्षिण
  • पूर्व
  • पश्चिम
  • उत्तर
उत्तर. दक्षिण

हनुमान ने सुग्रीव से श्रीराम की मित्रता कराई। श्रीराम ने बालि का वधकर सुग्रीव को किष्किंधा का राजा बनाया। बालि के वध के बाद राम ने यहीं पहाड़ पर 4 महीने वर्षा ऋतु बीतने का इतंजार किया। बारिश गुजरने के बाद वानर दलों ने सीता की खोज में चारों दिशाओं की यात्रा की। यहीं से हनुमान, अंगद और जामवंत के दल दक्षिण दिशा में गए। जहां हनुमान ने समुद्र लांघकर लंका में सीता की खोज की।

प्रश्न 452. वानर यूथपति केसरी किस पर्वत पर रहता था?
  • सुमेरु
  • किष्किंधा
  • कांचन
  • मंदराचल
उत्तर. कांचन

वानर यूथपति केसरी कांचनगिरि पर्वत पर रहते थे. यह पर्वत श्रीराम के भक्त हनुमान के पिता का निवास स्थान था

प्रश्न 453. सीताजी की खोज के लिए सुग्रीव ने पांड्य देश में किसको भेजा था?
  • नल
  • जांबवान्
  • अंगद
  •  सुषेण
उत्तर. अंगद

प्रश्न 454. वनवास-गमन के समय श्रीराम सारे अयोध्या वासियों को किस स्थान पर सोते छोड़कर चले गए थे?
  • चित्रकूट
  • भरद्वाज आश्रम
  • शृंगवेरपुर
  • अत्रि आश्रम
उत्तर. शृंगवेरपुर

प्रश्न 455. भरत अपने बचपन में कहाँ रहते थे?
  • आश्रम
  • ननिहाल
  • नंदिग्राम
  • अयोध्या
उत्तर.  ननिहाल

प्रश्न 456. सीता स्वयंवर के समय राजा जनक ने कुशध्वज को किस नगरी से बुलवाया था?
  • सांकाश्या
  • गया
  • अयोध्या
  • चंपा नगरी
उत्तर. सांकाश्या

प्रश्न 457. सीताजी की खोज में लंका सर्वप्रथम कौन पहुँचा था?
  • अंगद
  • जांबवान्
  • हनुमान
  •  गंधमादन
उत्तर. हनुमान

प्रश्न 458. श्रीराम का जन्म कहाँ हुआ था?
  • प्रयाग
  • अयोध्या
  • मिथिला
  •  शृंगवेरपुर
उत्तर.  अयोध्या

भगवान श्री राम का जन्म चैत्र मास शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को हुआ था। यह तारीख हर साल मार्च या अप्रैल में निकलती है। श्री राम का जन्म अयोध्या में हुआ था, जो वर्तमान में भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है। रामायण के अनुसार श्री राम का जन्मोत्सव और रानी कौशल्या का घर हुआ था। अयोध्या के राजा थे और कौशल्या उनकी पहली पत्नी थीं। श्री राम के तीन भाई थे: लक्ष्मण, भरत, और शत्रुघ्न। श्री राम का जन्म एक महान घटना थी, जिसका कई वर्षों से विरोध किया जा रहा था।

प्रश्न 459. हनुमानजी की भेंट सीताजी से सर्वप्रथम किस स्थान पर हुई थी?
  • अशोक वाटिका
  •  चित्रकूट
  • शृंगवेरपुर
  •  भरद्वाज आश्रम
उत्तर. अशोक वाटिका

सीता जी और हनुमान जी की पहले भेंट का प्रसंग हनुमान जी जब लंका में पहुंचे तो वे सीता की खोज करते हुए अशोक वाटिका में पहुंच गए थे। अशोक वाटिका में देवी सीता जी उन्हें मिल गईं। सीता से मिलकर हनुमान जी ने बताया कि श्रीराम जल्दी ही वानर सेना के साथ लंका पर आक्रमण करेंगे और आपको रावण की कैद से मुक्त कराएंगे।

प्रश्न 460. प्रतिष्ठानपुर किस नदी के किनारे स्थित था?
  • चर्मण्वती
  • नर्मदा
  • गंगा-यमुना के संगम पर
  • कावेरी
उत्तर. गंगा-यमुना के संगम पर

प्रश्न 461. श्रीराम के मित्र प्रतर्दन कहाँ के राजा थे?
  • कोशल
  • काशी
  • प्रतिष्ठानपुर
  • केकय
उत्तर.  काशी

प्रश्न 462. सुदामा नामक पर्वत किस देश में स्थित था?
  • बाह्लीक
  • गया
  • काशी
  • लंका
उत्तर.  बाह्लीक

प्रश्न 463. क्षिण में स्थित देश चोला में सीता की खोज करने को सुग्रीव ने किसे भेजा था?
  • सुषेण
  • अंगद
  • विनत
  • मैंद
उत्तर.  अंगद

रामायण के बाद, बाली पुत्र अंगद का महत्वपूर्ण योगदान हुआ। अंगद वानर सेना के वीर योद्धा थे और वानर राजा सुग्रीव के पुत्र थे। उन्होंने श्री राम की सेवा में अपनी ब्रवरी और समर्पण को साबित किया। रामायण में, अंगद का प्रमुख कार्य था हनुमान और वानर सेना के साथ माता सीता का संदेश लेकर लंका जाना। अंगद ने लंका में हनुमान के साथ उनकी खोज की और उन्हें श्री राम का संदेश सुप्रीम संप्रेषण के रूप में सीता जी के पास पहुंचाया। इसके बाद, अंगद ने लंका युद्ध में अहम भूमिका निभाई और अपनी वीरता से अद्वितीय योगदान दिया।

प्रश्न 464. सीता जी की खोज में सुग्रीव ने मगध देश में किसे भेजा था?
  • विनत
  • हनुमान
  • द्विविद
  • तार
उत्तर. विनत

प्रश्न 465. श्रीराम की माता का क्या नाम था?
  • कैकेयी
  • सुमित्रा
  • कौशल्या
  • मंथरा
उत्तर. कौशल्या

भगवान श्री राम की माता का नाम कौशल्या था। कौशल्या देवी राजा दशरथ की पत्नी थीं और उन्होंने भगवान श्री राम को जन्म दिया था। वे एक प्रिय और धार्मिक माता थीं और उनका भगवान श्री राम के प्रति बहुत अधिक प्रेम था।

प्रश्न 466. हनुमानजी की माता कौन थीं?
  • अंजनी
  • कृतिका
  • अहल्या
  • सुलक्षणा
उत्तर. अंजनी

पौराणिक कथा के अनुसार, हनुमान जी की माता अंजनी पूर्व जन्म में इंद्र देव की सभा में अप्सरा थीं. उनका नाम पुंजिकस्थला था. वह अत्यंत रूपवती थी, लेकिन उनका स्वभाव नटखट और चंचल था. एक बार उन्होंने अपने नटखटपन से भूलवश तप कर रहे एक श्रषि के तप में व्यवधान डाल दी.

प्रश्न 467. दशरथ की माता कौन थीं?
  • शांता
  • सुयशा
  • इंदुमती
  • कैकेयी
उत्तर. इंदुमती

राजा दशरथ अज व इन्दुमती के पुत्र थे। राजा अज हिंदू पौराणिक कथाओं में एक महान राजा थे, और इंदुमती उनकी पत्नी थीं। राजा अज और इंदुमती की कहानी प्राचीन भारतीय महाकाव्य, "महाभारत" में बताई गई है। अजा अपनी बहादुरी और धार्मिकता के लिए जाना जाता था, और उसने अपने राज्य पर ज्ञान और करुणा के साथ शासन किया। इंदुमती अपनी सुंदरता और गुणों के लिए जानी जाती थी। दंपति को विभिन्न परीक्षणों और कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, जिसमें बच्चा पैदा करने की चुनौती भी शामिल थी। उनकी भक्ति और दृढ़ता के माध्यम से, उन्हें राजा दशरथ नामक एक पुत्र का आशीर्वाद मिला, जो बाद में हिंदू महाकाव्य "रामायण" के केंद्रीय पात्र भगवान राम के पिता बने।

प्रश्न 468. रावण की माता कौन थी?
  • मंदोदरी
  • कैकसी
  • मंथरा
  • सुलोचना
उत्तर.  कैकसी

रामायण के मुताबिक, रावण की मां का नाम कैकसी था. कैकसी राक्षस कुल की थीं और रावण के पिता ऋषि विश्रवा थे. कैकसी ऋषि विश्रवा की दूसरी पत्नी थीं. ऋषि विश्रवा की पहली पत्नी का नाम इलाविडा था और उनसे कुबेर का जन्म हुआ था.

प्रश्न 469. जटायु (गृद्ध) की माता कौन थी?
  • श्येनी
  • प्राक्षा
  • दिति
  • कुंदवा
उत्तर. श्येनी

जटायु संज्ञा पुं॰ [सं॰] रामायण का एक प्रसिद्ध गिद्ध । विशेष—यह सूर्य के सारथी अरुण का पुत्र था जो उसकी श्येनी नाम्नी स्त्री से उत्पन्न हुआ था । यह दशरथ का मित्र था और रावण से, जब वह सीता को हरण कर लिए जाता था, लड़ा था । इस लड़ाई में यह घायल हो गया था । रामचंद्र के आने पर इसने रावण के सीता को हर ले जाने का समाचार उनसे कहा था । उसी समय इसके प्राण भी निकल गए थे । रामचंद्र ने स्वयं इसकी अंत्योष्टि क्रिया की थी । संपाति इसका भाई था ।

प्रश्न 470. मंदोदरी की माता का क्या नाम था?
  • प्रभा
  • हेमा
  • उर्वशी
  • रुक्मिणी
उत्तर  हेमा

मंदोदरी की मां का नाम रंभा था. रंभा एक अप्सरा थीं. मंदोदरी के पिता का नाम मयासुर था. मयासुर और अप्सरा हेमा की बेटी थीं मंदोदरी. मंदोदरी का विवाह लंकापति रावण से हुआ था. मंदोदरी ने रावण को तीन पुत्र दिए- अक्षय कुमार, मेघनाद, और अतिकाय. मंदोदरी को चिर-कुमारी के नाम से भी जाना जाता है. मंदोदरी ने ही अपने पति रावण के मनोरंजन के लिए शतरंज के खेल की शुरुआत की थी

प्रश्न 471. विभीषण की माता कौन थी?
  • मंदोदरी
  • कैकसी
  • उर्वशी
  • प्रभा
उत्तर.  कैकसी

रामायण के मुताबिक, विभीषण की मां का नाम कैकसी था. कैकसी, ऋषि विश्रवा की दूसरी पत्नी थीं. कैकसी को निकषा और केशिनी के नाम से भी जाना जाता है. कैकसी, राक्षस राजा सुमाली की बेटी थीं. कैकसी से रावण, कुंभकर्ण, विभीषण और शूर्पणखा पैदा हुए थे. विभीषण, विश्रवा के सबसे छोटे बेटे थे. विभीषण बचपन से ही धर्मपरायण और भगवान का भक्त थे. विभीषण की पत्नी का नाम सरमा और उनकी बेटी का नाम त्रिजटा था

प्रश्न 472 .खर की माता का क्या नाम था?
  • पुष्पोत्कटा
  • त्रिजटा
  • मंदोदरी
  • युगंधरा
उत्तर. पुष्पोत्कटा

खर की मां का नाम पुष्पोत्कटा था. पुष्पोत्कटा का एक और नाम केकसी भी है. पुष्पोत्कटा, ऋषि विश्रवा की पत्नी थीं. विश्रवा की दूसरी पत्नी राका थीं, जिनसे विभीषण का जन्म हुआ था. विश्रवा की तीसरी पत्नी मालिनी थीं, जिनसे खर, दूषण, त्रिसरा, और शूर्पणखा का जन्म हुआ था. खर और दूषण, रावण के सौतेले भाई थे. खर, पुष्पोत्कटा से और दूषण, वाका से ऋषि विश्रवा के पुत्र थे

प्रश्न 473. दूषण की माता का क्या नाम था?
  • क्रोधवशा
  • हेमा
  • वाका
  • प्रभा
उत्तर. वाका

दूषण, खर का जुड़वां भाई था. खर और दूषण, रावण के सौतेले भाई थे. खर, पुष्पोत्कटा से और दूषण, वाका से ऋषि विश्रवा के पुत्र थे. रावण की मां का नाम कैकसी था

प्रश्न 474. मेघनाद की माता का क्या नाम था?
  • कैकसी
  • विपाशा
  • दिति
  • मंदोदरी
उत्तर.  मंदोदरी

मेघनाद लंका के राजा रावण का पुत्र था, जो मयकन्या तथा रावण की पटरानी मंदोदरी के गर्भ से उत्पन्न हुआ था। इसने जन्म लेते ही मेघ के समान गर्जना की थी, अत: 'मेघनाद' नाम से भगवान ब्रह्मा ने इसे पुकारा था।

प्रश्न 475. मारीच (राक्षस) की माता कौन थी?
  • ताड़का
  • कैकसी
  • शूर्पणखा
  • नंदिनी
उत्तर. ताड़का

श्रीमद्वाल्मीकीय रामायण के अनुसार, मारीच राक्षस सुंद का पुत्र था. वह अगस्त्य मुनि के श्राप के कारण भयंकर राक्षस बन गया था. उसकी मां ताड़का थी. मारीच ही वो राक्षस था, जो ब्रह्मऋषि विश्‍वामित्र के यज्ञ-अनुष्‍ठान में बाधाएं डालता था. मारीच और उसके साथी ऋषि-मुनियों को खा भी जाते थे. फिर जब विश्‍वामित्र 15 वर्ष के श्रीराम को लक्ष्‍मण समेत अपने आश्रम पर ले गए थे, तो मारीच को श्रीराम ने ही दंडित किया.

रामायण से जुड़े GK के प्रश्न उत्तर 1000
  1. रामायण से जुड़े Gk के प्रश्न उत्तर 26 से 50 ,GK questions and answers related to Ramayana 26 to 50
  2. रामायण के प्रसिद्ध प्रश्न उत्तर 375 , Famous Questions and Answers of Ramayana 375
  3. रामायण से संबंधित 325 प्रश्न उत्तर ,325 questions and answers related to Ramayana
  4. GK प्रश्न उत्तर " रामायण से संबंधित 300 ,GK Questions and Answers related to Ramayana 300
  5. रामायण से जुड़ी Gk के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर 350 , Important GK ques and answers related to Ramayana 350
  6. पढ़े रामायण से संबंधित प्रश्न उत्तर 451,Read questions and answers related to Ramayana 451

Comments